विश्‍व जनसंख्‍या दिवस के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी – information about World Population Day

2
4044

प्रत्‍येक वर्ष 11 जुलाई के दिन को विश्‍व जनसंख्‍या दिवस के रूप में मनाया जाता है इस दिवस को मनाने का उद्देश्‍य अत्यधिक तेज़ गति से बढ़ती जनसंख्या के प्रति लोगों में जागरूकता करना है तो आइये जानते हैं विश्‍व जनसंख्‍या दिवस के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी – Important information about World Population Day

Important information about World Population Day

विश्‍व जनसंख्‍या दिवस के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी – Important information about World Population Day

यह भी पढेें – विश्व धूम्रपान निषेध दिवस के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी

यह दिवस सबसे पहली बार 11 जुलाई 1987 को मनाया गया था क्‍योंकि इसी दिन विश्‍व की जनसंख्‍या 5 अरब को पार कर गई थी इसे देखते हुऐ संयुक्त राष्ट्र ने जनसंख्या वृद्धि को लेकर दुनिया भर में जागरूकता फैलाने के लिए यह दिवस मनाने का निर्णय लिया क्‍योंकि आज दुनिया के हर विकासशील और विकसित दोनों तरह के देश जनसंख्या विस्फोट से चिंतित हैं भारत में बढती जनसंख्‍या की बजह से देश को लगातार बेरोजगारी, गरीबी, भुखमरी बढ़ेगी आने वाली पीढ़ियों के लिए सुरक्षित और स्वस्थ रह पाना मुश्किल होगा ऐसा अनुमान है कि भारत में एक मिनट में लगभग 25 बच्‍चे जन्‍म लेते हैं जनसंख्‍या के हिसाब से चीन विश्‍व में प्रथम स्‍थान पर और भारत दूसरे स्‍थान पर है इसी को देखते हुए भारत सरकार परिवार नियोजन के कई कार्यक्रम चला रही है

विश्‍व जनसंख्‍या दिवस की थीम –  World Population Day theme

2018 का थीम था “परिवार नियोजन: एक मानवाधिकार”
2017 का थीम था “परिवार नियोजन: लोगों को सशक्त बनाना, विकासशील राष्ट्र”
2016 का थीम था “किशोर बालिकाओं में निवेश”
2015 का थीम था “आपातकाल में अतिसंवेदनशील जनसंख्या”
2014 का थीम था “जनसंख्या प्रचलन और संबंधित मुद्दे पर चिंता के लिये एक समय” और “युवा लोगों में निवेश करना”
2013 का थीम था “किशोर पन में गर्भावस्था पर ध्यान”
2012 का थीम था “जननीय स्वास्थ्य सेवा के लिये विश्वव्यापी पहुँच”
2011 का थीम था “7 बिलीयन कार्य”
2010 का थीम था “जोड़े जाओ: कहो क्या चाहिये तुम्हे”
2009 का थीम था “गरीबा से लड़ो: लड़कियों को शिक्षित करो”
2008 का थीम था “अपना परिवार नियोजन करो: भविष्य नियोजन करो”
2007 का थीम था “मनुष्य कार्य पर है”
2006 का थीम था “युवा होना कठिन है”
2005 का थीम था “समानता से सशक्तिकरण”
2004 का थीम था “10 पर आईसीपीडी”
2003 का थीम था “1,000,000,000 किशोरवस्था”
2002 का थीम था “गरीबी, जनसंख्या और विकास”
2001 का थीम था “जनसंख्या, पर्यावरण और विकास”
2000 का थीम था “महिलाओं का जीवन बचाना”
1999 का थीम था “6 बिलीयन के दिन से गिनना शुरु करें”
1998 का थीम था “आनेवाला 6 बिलीयन”
1997 का थीम था “किशोर जननी स्वास्थ्य देख-रेख”
1996 का थीम था “जननीय स्वास्थ्य और एड्स”
.Tag – World Population Day, Some interesting facts about World Population Day, world population day history, World Population Day 2018

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here