जानें भारत रत्‍न अटल विहारी वाजपेजी जी के समाधि स्‍थल “सदैव अटल (sadaiv atal) ” के बारे में

0
8

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी जी के समाध‍ि स्‍थल को सदैव अटल नाम दिया गया है इस समाधि स्‍थल का उद्धाटन भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी जी और भारत के राष्‍ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी ने अटल जी के जन्‍म दिन के अवसर पर 25 दिसम्‍बर 2018 को किया तो आइये जानें भारत रत्‍न अटल विहारी वाजपेजी जी के समाधि स्‍थल “सदैव अटल” के बारे में

जानें भारत रत्‍न अटल विहारी वाजपेजी जी के समाधि स्‍थल “सदैव अटल (sadaiv atal) ” के बारे में

  • इस समाधि स्‍थल को बनाने में किसी भी पेड को नहीं काटा गया है
  • इसका निर्माण सीपीडब्ल्यूडी ने 10.51 करोड़ रुपये की लागत से किया है
  • इस परियोजना को फंड अटल स्मृति न्यास सोसायटी ने दिया है
  • इस समाधि पर कमल के फूल आकार में एक पारदर्शी पत्थर लगाया गया है, जिसमें रात को लाइट ज्योति की तरह दिखाई देती है
  • इस समाधि को राष्ट्रीय स्मृति स्थल कॉम्प्लेक्स में तैयार किया गया है जो 7 एकड़ में फैला है
  • इस कॉम्‍प्‍लेक्‍स में अटल जी के साथ-साथ यहॉ पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह, आर वेंकटरमन, शंकर दयाल शर्मा, केआर नारायण, पूर्व प्रधानमंत्री आईके गुजराल, पीवी नरसिंह राव, चंद्र शेखर की भी समाधियां हैं
  • अटल जी की समाधि 1.5 एकड में फैली है
  • इसके चारों ओर तीन मीटर की नौ दीवारें हैं जिन पर लगाए ग्रेनाइट पर सुनहरे अक्षरों में अटल जी की प्रमुख कविताओं की पंक्तियों को लिखा गया है
  • इस समाधि को बनाने में ईटों को इस्‍तेमाल नहीं किया गया है इसमें 135 क्विंटल ग्रेनाइट लगा है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here